Ads

Fact Check: होम्योपैथिक दवा ASPIDOSPERMA Q से बढ़ता है ऑक्सीजन लेवल? जानिए वायरल मैसेज की सच्चाई


Fact Check: होम्योपैथिक दवा ASPIDOSPERMA Q से बढ़ता है ऑक्सीजन लेवल? जानिए वायरल मैसेज की सच्चाई..

>>सोशल मीडिया पर इन दिनों एक होम्योपैथी दवा का पोस्ट वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि इस दवा को लेने से कोरोना मरीज का ऑक्सीजन लेवल बढ़ जाता है. आइए जानते हैं इस वायरल मैसेज के पीछे की सच्चाई...नवीनतम समाचार, रोजगार अपडेट, प्रौद्योगिकी टिप्स और सामान्य सूचना अपडेट, हमारे साथ बने रहें अवार्केनज कृपया इस पोस्ट को अपने साथियों के साथ साझा करें।

>>कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए वेरिएंट की चपेट में आए मरीजों में ऑक्सीजन (Oxygen) सेचुरेशन लेवल कम होने की शिकायतें आ रही हैं. यही कारण है कि देश के कई राज्यों में अचानक ऑक्सीजन की किल्लत होने लगी है. ऐसे में सोशल मीडिया पर एक होम्योपैथी दवा का पोस्ट खूब वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि उसे लेने से आपका ऑक्सीजन लेवल बढ़ सकता है. आइए जानते हैं इस पोस्ट के पीछे की सच्चाई... 


सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा मैसेज: वायरल पोस्ट में लिखा है, 'ऑक्सीजन लेवल गिर रहा है तो ऑक्सीजन मिलने का इंतजार मत करो. ASPIDOSPERMA Q 20 बूंद एक कप पानी मे देने से ऑक्सीजन लेवल तुरंत मेंटेन हो जाएगा जो हमेशा बना रहेगा. ये होम्योपैथिक मेडिसिन है.'

क्या ये पोस्ट सही है? जानिए एक्सपर्ट्स से: वेबदुनिया से बातचीत में आयुष मंत्रालय में वैज्ञानिक सलाहकार डॉ. एके द्विवेदी ने बताया कि 'अगर ऑक्सीजन सेचुरेशन लेवल कुछ प्वाइंट्स कम होता है तो इस दवा (ASPIDOSPERMA Q) के जरिए उसे मेंटेन किया जा सकता है. कुछ लोग इस दवा के साथ कार्बो वेज (Carbo Veg) भी ले रहे हैं, जिससे उन्हें काफी फर्क पड़ा है. लेकिन परेशानी ज्यादा होने पर या ऑक्सीजन सेचुरेशन लेवल 93 से नीचे होने पर बिना देरी अस्पताल में जाएं और ऑक्सीजन सपोर्ट लें. हालांकि उन्होंने कहा कि इस दवा से ऑक्सीजन लेवल हमेशा के लिए मेंटेन नहीं रहता.'

डॉक्टर से सलाह के बाद ही शुरू करें दवा: कोरोना काल में सोशल मीडिया पर कई ऐसे पोस्ट वायरल हो रहे हैं, जिसमें महामारी के इलाज संबंधी जानकारी, घरेलु नुस्खे या दवाइयों के नाम दिए गए हैं. ऐसे में कुछ लोग जानकारी के अभाव में उस मैसेज को सच मान लेते हैं और डॉक्टर की सलाह के बिना ही दवाइयां शुरू कर देते हैं. ज़ी न्य़ूज की अपील है कि कोई भी शख्स डॉक्टर की सलाह के बिना दवाइयां ना खाए. बिना किसी शोध के उपचार करना और सेल्फ मेडिकेशन भारी पड़ सकता है. सभी डॉक्टर्स मरीज की बॉडी टाइप और लक्षण के अनुसार दवाइयां बताते हैं. – This News Source
.

Thanks for visit this useful Post, Stay connected with us for more Posts.

Avakar News

AvaKar News

AvaKar News